कोरोना वायरस के बारे में जानकारी हिंदी में

 

1. कोरोना क्या है

 

क्या आपको पता है कि कोरोना इस सदी की सबसे भयानक महामारी बन चुका है ।
कोरोना वायरस कई वायरस का एक समूह है जो कि मनुष्यों को संक्रमित करता है । इस वायरस से होने वाली बीमारी का नाम covid 19 है । इस बीमारी का पहला मरीज चीन के वुहान प्रांत में मिला था लेकिन तब तक चीन को इस बीमारी की गंभीरता का पता नहीं था और चीन ने दुनिया और विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO से इसकी जानकारी छुपाई ।
उसके बाद इसके भयानक परिणाम देखने को मिल रहे है और अब यह वायरस दुनिया के 200 से अधिक देशों में फेल चुका है और लाखों लोगों को संक्रमित कर चुका है ।
कोरोना वायरस का पहला मरीज चीन में दिसंबर 2019 में मिला था लेकिन चीन ने जनवरी में इसके बारे में WHO को बताया तब तक यह एक महामारी बन चुका था । फिर WHO ने 11 मार्च 2020 को इसे महामारी घोषित किया तब तक चीन से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के द्वारा यह वायरस पूरी दुनिया में फेल चुका था और पूरा विश्व अब इससे जूझ रहा है ।
इस बीमारी के कारण दुनिया के बड़े बड़े देशों की अर्थव्यवस्था ठप हो चुकी हैं और अमेरिका में इसके संक्रमण लाखों में हो चुके है जबकि इटली ब्रिटेन स्पेन आस्ट्रेलिया भारत जैसे बड़े बड़े देश भी अब इससे अछूते नहीं रहे हैं ।।

कोरोना के लक्षण क्या हैं

इसके लक्षण आने में लगभग 15 दिन लग सकते हैं ,COVID-19के सामान्य लक्षण हैं बुखार, सूखी खांसी और थकान। कुछ मरीजों को  नाक का बहना, सिरदर्द,  गले में खराश, दस्त, ये लक्षण होते है लेकिन ये सभी लक्षण धीरे धीरे से दिखाई देते हैं ।
अधिकतर लोग लगभग 80 फीसदी लोग बिना अस्पताल जाए ही ठीक हो जाते हैं। वृद्ध लोगों, और उच्च रक्तचाप, हृदय और फेफड़ों की समस्याओं, मधुमेह, या कैंसर जैसी समस्याओं वाले लोगों में कोरोना  का खतरा अधिक होता है।  इसलिए अगर आपको बुखार या खांसी या  सांस की तकलीफ , सीने में दर्द हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और उनकी सलाह से आगे की कार्यवाही करें ।
कोरोना फैलता कैसे है ?
यह बहुत ही सामान्य तरीके से फैलता है और बहुत तेजी से फैलता है । यह एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य में फैलता है । यदि कोई कोरोना से संक्रमित है और कोई अन्य व्यक्ति उसके संपर्क में आता है या उससे स्पर्श करता है तो ये वायरस उस व्यक्ति में भी चला जाता है , किसी संक्रमित व्यक्ति की सांस और छींकने से भी यह वायरस फैलता है एक तरह से इंसान ही इस बीमारी को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाने का काम करता है ।।।
जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं मिल जाती है तब तक इसका बचाव ही उपचार है अर्थात भीड़भाड़ से बचें और राज्य सरकारों तथा केन्द्र सरकार के नियमों का कठोरता से पालन करें तथा जितना हो सकें गरीब और जरूरत मंद लोगों की मदद करें ।