विश्व स्वास्थ्य संगठन क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी – world health organisation kya hai

WHO का पूरा नाम क्या है

Who – world health organisation हिंदी में इसको विश्व स्वास्थ्य संगठन भी कहा जाता है ।

WHO के महानिदेशक का नाम क्या है ?

WHO के महानिदेशक का नाम डाक्टर ट्रेडोस अधानोम घेब्रेयेसुस है जो कि इथोपिया के रहने वाले हैं । ट्रेडोस इससे पहले इथोपिया के स्वास्थ्य मंत्री और विदेश मंत्री भी रह चुके हैं । इसके बाद 2017 में WHO के महानिदेशक का पद संभाला है । कोरोना वायरस महामारी के कारण ट्रेडोस को आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है , अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि WHO के महनिदेशक ने चीन का साथ दिया है और पूरी दुनिया के साथ धोका किया है , साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो WHO को फंडिंग नहीं करेंगे ।

ट्रेडोस ने जवाब देते हुए कहा है कि इस महामारी में हमें एक दूसरे पर आरोप लगाने के बजाय सभी देशों के साथ मिलकर इस महामारी से लड़ना चाहिए ।
आपको बता दें कि अमेरिका कोरोना वायरस के कारण बहुत ही परेशान हुआ है और आर्थिक तौर पर भी उसे बहुत नुकसान हुआ है , ऐसे में अमेरिका को शक है कि चीन ने इस वायरस को बनाया है और एक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करके अमेरिका को नुकसान पहुंचाया है जिससे दोनों देशों में तनाव की स्थिति बनी हुई है ।
वहीं चीन अपने ऊपर लग रहे सभी आरोप को निराधार बता रहा हैं और कह रहा है कि हमने WHO और दुनिया को इस वायरस के बारे में जल्दी ही अवगत करा दिया था हमने कुछ नहीं छुपाया और इस वायरस पर काबू भी पा लिया है ।

WHO की स्थपना कब हुई तथा इसका मुख्यालय कहां है

WHO की स्थापना 7 अप्रैल 1948 में हुई थी तथा इसका मुख्यालय जिनेवा स्विटजरलैंड में स्थित है ।

WHO में कितने देशों की सदस्यता है ?

विश्व में 194 देश सदस्य हैं तथा 150 से अभी अधिक इसके कार्यालय हैं । विश्व स्वास्थ्य संगठन सम्पूर्ण विश्व के बेहतर और अच्छे भविष्य के लिए कार्य करता है ।

WHO के क्या कार्य हैं और इसका मुख्य उद्देश्य क्या है ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन बहुत सारी बीमारी और महामारियों से मुकबला करता है तथा लोगों को समय समय पर इनके बारे में सचेत करता रहता है । जैसे – HIV, कोरोना, हृदय रोग, क्षय रोग आदि घातक बीमारियां।

WHO के प्रमुख उद्देश्य :

  • WHO पूरी दुनिया में लोगों के अच्छे स्वस्थ भविष्य के लिए काम करता है ।
  • महामारी या गंभीर बीमारियों पर रिसर्च करना और सभी देशों को उसके बारे में सचेत करना
  • किसी गंभीर बीमारी को महामारी घोषित करना भी WHO का ही काम है।
  • सभी देशों में साथ आपसी सहयोग से कार्य करना ।
  • किसी भी महामारी से संबंधित दिशानिर्देश देना।
  • वैज्ञानिक संस्थानों तथा प्रायोगिक संस्थानों से जानकारी साझा करना ।
  • लोगों के स्वास्थ्य से सम्बन्धित मानकों को बढ़ाव देना ।
  • WHO अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी देशों के सहयोग से सभी निजी संस्थान , देशों, तथा प्रायोगिक संस्थानों के साथ जानकारी साझा करता है ।

COVID-19 के बारे में WHO की भूमिका

कोरोनावायरस को WHO ने 11 मार्च 2020 को महामारी घोषित किया और इसको महामारी घोषित करने में 72 दिन लगे , तब तक ये वायरस लगभग 114 देशों में फेल चुका था 

कोरोना वायरस के मामले में अमेरिका और ब्रिटेन समेत कई देशों ने WHO की भूमिका को संदेहास्पद बताया है और उस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं क्यूंकि WHO ने चीन के इस वायरस को गंभीर रूप से नहीं लिया और चीन का साथ देकर दुनिया के साथ धोखा किया है जबकि WHO सभी आरोप को नकर रहा है । 

WHO ने कहा है कि कोरोना वायरस की कोई दवा नहीं है और इसकी अब तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है हालांकि कई बड़े देश वैक्सीन पर रिसर्च कर रहे हैं और जैसे ही इसके बारे कोई खबर मिलेगी तो दुनिया के सभी देशों को सूचित कर दिया जाएगा ।
यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी है तो लोगों के साथ लिंक share करें और comment करके हमारी कमियों के बारे में बताए नमस्कार