काली 5000 विकिपीडिया – Kali 5000 Wikipedia, भारत का सबसे विनाशकारी हथियार

Kali 5000 image

काली 5000 विकिपीडिया भारत अपनी सेना को काली ( Kali ) हथियार सौंपने वाला है और उसके बाद चीन और पाकिस्तान दोनों की एक साथ कब्र बनाने में देर नहीं लगेगी । आपने भारत के एक गुप्त हथियार के बारे ने बहुत सुना होगा जिसका नाम है काली 5000 आजकल आप इसके बारे में न्यूज चैनल्स पर भी बहुत कुछ सुनते होंगे तो आइए एक रिपोर्ट से समझते हैं कि आखिर ये काली मिसाइल क्या है । Kali 5000 से जुड़े हुए सवाल जो चर्चा में हैं ।

काली kali मिसाइल  का पूरा नाम क्या है

काली का पूरा नाम KALI – kilo ampere linear injector है । काली मिसाइल का निर्माण डीआरडीओ द्वारा किया जा रहा है । अभी तक काली 80, काली- 200 काली-5000 के प्रोजेक्ट तैयार किए जा चुके हैं।

काली 5000  में क्या खासियत है Kali 5000 Wikipedia in hindi

काली (Kali 5000)  भारत का एक ऐसा उपकरण है जिससे किसी भी युद्ध की स्थिति में दुश्मन को अच्छी तरह से मजा चखाया जा सकता है क्यूंकि काली एक ऐसी तकनीकी से काम करता है जिसमें किसी भी दुश्मन के विमान या हथियार को दूर से ही बिना किसी मिसाइल के बरबाद किया जा सकता है ।
काली दुश्मन के विमान या मिसाइल पर लेजर प्रणाली से हमला करता है जो कि बहुत ज्यादा मात्रा में ऊर्जा उत्पन्न करता है और लेजर इंजेक्टर से किसी भी विमान को टारगेट करके राख कर सकता है ।

काली 5000 की ताकत

इस बात को आप ऐसे समझ सकते हैं कि यदि कोई विमान भारत में हमला करने घुसा तो वो काली के रडार में आते ही ख़तम हो जाएगा क्यूंकि काली के एक्टिव होते ही कई गीगा वाइट वोल्ट की तरंग एक लेजर इंजेक्टर से उस विमान पर कली के द्वारा छोड़ी जाएंगी जिससे वो कुछ मिनट में ही धुआं में बदल जाएगा ।
अभी तक किसी भी देश के पास ऐसी प्रणाली नहीं है जो लेजर तकनीकी से हमला कर सकती हो और ये भारत के लिए बहुत गर्व की बात है कि उसने दुनिया के बड़े बड़े देशों से पहले इतनी अच्छी और सफल प्रणाली विकसित कर ली है । हालांकि अमेरिका भी दावा करता है कि उसने भी ऐस हथियार बना लिया है लेकिन अभी तक इसका कोई प्रमाण सामने नहीं आया है इसलिए इसमें कितनी सच्चाई है ये तो अमेरिका ही जाने लेकिन भारत की सच्चाई तो जग जाहिर है ।

काली मिसाइल के प्रकार

भारत ने पहले काली 80 बनाया और उसके बाद काली 200 बनाया वो भी सफल रहा तो भारत ने काली 5000 बनाया जा रहा है जो कि सबसे घातक उपकरण है । इसका प्रमाण ये है कि 1985 में भाभा रिसर्च एकेडमी ने इसकी नींव रखी थी और अब डीआरडीओ और भाभा दोनों मिलाकर काली 5000 पर काम कर रहे हैं जिसे जल्द ही भारत की सीमा सुरक्षा ने शामिल किया जाएगा ।
इसकी तैनाती होने के बाद चीन और पाकिस्तान दोनों देश कोई भी हिमाकत करने से पहले हजार बार सोचेंगे क्योंकी काली एक बार अपना निशाना बना लेगी तो बचना नामुमकिन हो जाएगा और वैसे भी काली का बार कभी खाली नहीं जाता  काली के द्वारा दुश्मन देश के किसी भी तकनीकी उपकरण या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को दूर से ही तबाह किया जा सकता है जैसे की दुश्मन देश की रडार को दूर से ही भस्म करने में काली बहुत कारगर है ।

काली 5000 विकिपीडिया

काली का सबसे नया संस्करण KALI 5000 है जिसको अभी बनाया जा रहा है कई बार ऐसी खबरे भी आती है कि काली को 2004 ने ही तैयार कर लिया गया था । लेकिन अभी तक ऐसी कोई सरकारी पुष्टि नहीं है लेकिन काली 5000 पर काम चल रहा है और जल्द ही ये भारत की सेना में शामिल होगी जिससे दुश्मनों को धूल चटाई जा सके ।
आप हमारी रिपोर्ट कैसी लगी प्रतिक्रिया देकर हमें जरूर बताएं
जय हिन्द  जय भारत