रातोंरात करोड़पति बना शख्स उल्कापिंड ने बदली किस्मत पूरी कहानी पढ़ें

ulkapind news Indonesia

ऊपरवाला जब भी देता , देता छप्पर फाड़ के

भारत में एक कहावत बहुत मशहूर है कि ऊपर वाला जब भी देता देता छप्पर फाड़ के , लेकिन इस कहावत का एक बहुत ही अच्छा उदाहरण देखने को मिला है और एक व्यक्ति की सच में ऊपर वाले ने छप्पर फाड़ के पैसा दिया है ।
इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप पर रहने वाले एक जोशुआ नाम के व्यक्ति के घर की छत को फाड़कर एक उल्कापिंड गिरा जिसे बेचकर इस व्यक्ति ने 9 करोड़ 80 लाख रुपए कमाए हैं , जोशुआ का कहना है कि एक काला और खुरदरा पत्थर उसके घर की छत की तोड़ता हुआ आसमान से आकर गिरा , पत्थर गिरने से बहुत जोरदार धमाका हुआ जिससे आसपास के लोग काफी देर गए थे लेकिन उस समय लोगों की पता नहीं था कि ये एक उल्कापिंड है ।
जोशुआ नाम का व्यक्ति जो इस पत्थर को बेचकर एक रात में ही करोड़पति बन गया उसकी उम्र 33 वर्ष है और वो ताबूत बनाने का काम करता है वो अब अपने घर के पास चर्च बनवाएगा शायद वो ऐसा करके ऊपरवाले को धन्यवाद देना चाहता है ।
इंडोनेशिया में मिला यह उल्कापिंड अब अमेरिका की एरिजोना यूनिवर्सिटी में है और वैज्ञानिक इस पर रिसर्च कर रहे हैं , वैज्ञानिकों के अनुसार यह उल्कापिंड करीब साढ़े चार अरब वर्ष पुराना है और इसका वजन लगभग दो किलोग्राम है और इसकी कीमत 63 हजार रूपए प्रति ग्राम आंकी गई है ।

उल्कापिंड क्या है 

उल्कापिंड अरबों करोड़ों वर्ष से ब्रह्मांड में तैर रहे हैं और ये प्रथ्वी के गुरूत्वाकर्षण की वजह से प्रथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश कर जाते हैं लेकिन इनकी गति इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि ये करीब 2 लाख किमी प्रति घंटा की गति से भी ज्यादा हो जाती है इस कारण ये बीच में आई जलकर राख हो जाते हैं लेकिन कुछ बड़े आकर के उल्कापिंड होते हैं जिनके टुकड़े प्रथ्वी पर आ जाते हैं जैसा कि इंडोनेशिया में हुआ है ।

Leave a Comment

%d bloggers like this: