Maharashtra की ‘लेडी सिंघम’ Deepali Chavan-Mohite ने खुद को मारी गोली प्रताड़ित करने के आरोप में DCF रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार,

deepali chavan mohite photo

महिला ऑफिसर ने की आत्महत्या 

महाराष्ट्र (Maharashtra) के अमरावती (Amravati) में मेलघाट टाइगर रिजर्व (MRT) में तैनात 28 वर्षीय महिला रेंज वन अधिकारी ने शुक्रवार को आत्महत्या (Suicide) कर ली है. उन्होंने अपने कथित सुसाइड नोट में महिला ने भारतीय वन सेवा (Indian Forest Service) के वरिष्ठ अधिकारी पर सेक्सुअल हैरेसमेंट और टॉचर्र का आरोप लगाया.

आत्महत्या के मामले में वन विभाग के प्रमुख (DCF) विनोद शिवकुमार को गिरफ्तार किया गया है। मेलघाट टाइगर रिजर्व के अंतर्गत हरिसल की वन रेंज अधिकारी दीपाली चव्हाण ने सरकारी आवास पर खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली थी। 28 वर्षीय RFO दीपाली चव्हाण-मोहिते (Deepali Chavan-Mohite) ने अपने सर्विस रिवाल्वर से टाइगर रिजर्व के पास हरिसल गांव में अपने सरकारी क्वार्टर में खुद को गोली मार ली और मौके पर ही दम तोड़ दिया. बंदूक के साथ उनका खून से लथपथ शव बाद में रिश्तेदारों और सहयोगियों द्वारा बरामद किया गया.

 

जांच मे क्या सामने आया 

शुरूआती जांच में सामने आया है कि वह अपने सीनियर यानी शिवकुमार द्वारा किए जा रहे उत्पीड़न से परेशान थीं। मरने से पहले दीपाली ने एक सुसाइड नोट लिखा था। उसमें उन्होंने अपने सीनियर्स पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। दीपाली चव्हाण के सुसाइड नोट में कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के नामों का भी उल्लेख है।

वन माफियाओं के खिलाफ अपनी निडरता के लिए लेडी सिंघम (Lady Singham) के नाम से प्रसिद्ध एक सख्त अधिकारी, दीपाली के पति राजेश मोहिते चिखलधारा में एक ट्रेजरी ऑफिसर के रूप में पोस्टेड हैं, जबकि उनकी मां सतारा गई हुई थीं, जब उन्होंने इस घातक कदम को उठाया.

परिवार ने शव लेने से किया इनकार

दीपाली के परिवार ने चार पन्नों के सुसाइड नोट में नामजद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किए जाने तक अंतिम संस्कार के लिए उनके शव को लेने से इनकार कर दिया. घटना के बाद वन विभाग में सदमें का माहौल है. जिसके बाद पुलिस ने अमरावती पुलिस, डिप्टी कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट (DCF) शिवकुमार को नागपुर रेलवे स्टेशन पर हिरासत में लिया गया. उस वक्त वे बेंगलुरु के लिए एक ट्रेन में सवार होने के लिए इंतजार कर रहे थे. उन्हें आगे की औपचारिकताओं के लिए अमरावती लाया जा रहा है.

विरोध करने पर इस तरह करता था टॉचर्र

गौरतलब है कि पिछले दिनों कई मौकों पर, दीपाली ने शिवकुमार के बारे में अपने वरिष्ठ, MTR फील्ड डायरेक्टर, एम.एस. रेड्डी (RFS) को शिकायत की थी, जिन्होंने कथित तौर पर उनकी दलीलों को नजरअंदाज किया. जिसके बाद दीपाली ने शिवकुमार की शराब पीने की आदतों पर पर प्रकाश डाला था. साथ ही कहा था कि वह सार्वजनिक और निजी तौर पर उनके साथ अभद्र व्यवहार करता था और फीजिकल होने का संकेत देता था. हालांकि, दीपाली ने उसे बार-बार फटकार लगाई, जिसकी कीमत उन्हें कठिन वर्क शेड्यूल, उत्पीड़न और एक महीने की सैलरी को होल्ड करके चुकानी पड़ी.

सुसाइड नोट में दीपाली के पांच आरोप

  • मेरे सीनियर द्वारा मुझे जबरदस्ती गलत काम करने पर मजबूर किया जाता था।
  • शिवकुमार सर ने कभी गांव में जाकर सभा नहीं की और वे मुझे, जूनियर्स, गांववालों, मजदूरों के सामने गालियां दिया करते थे।
  • प्रेग्नेंट होने के बावजूद मुझे जान बूझकर कच्चे रस्ते पर घुमाया गया। इस वजह से मेरा अबॉर्शन हुआ। उसके बावजूद मुझे छुट्टी नहीं दी गई।
  • शिवकुमार मुझे देर रात मिलने के लिए बुलाते थे। वे मुझ से अश्लील बात करते थे। इसकी शिकायत मैंने अपने सीनियर्स से की थी।
  • मेलघाट ऐसी दलदल है, जहां आप अपनी मर्जी से आ तो सकते हैं, लेकिन जा नहीं सकते।

आत्महत्या से पहले साथ रहने वाली मां को गांव भेजा
दीपाली चव्हाण अपनी मां के साथ मेलघाट में रह रही थी। जानकारी के अनुसार, चव्हाण ने गुरुवार सुबह करीब 11 बजे अपनी मां को अपने गांव भेज दिया था। गांव पहुंचने के बाद मां ने दीपाली को कई बार फोन किया, लेकिन उनका नंबर नहीं उठा। जिसके बाद हरिसाल में एक गार्ड को फोन कर घर जाकर दीपाली को देखने को कहा। गार्ड जब घर पहुंचा तो दरवाजा बंद था और कई बार बेल बजाने के बाद भी जब वह नहीं खुला तो उसने पड़ोस में रहने वालों के सहारे मेन डोर का लॉक तोड़ एंट्री की।

दीपाली ने दो गांवों का किया था कायाकल्प
दरवाजा तोड़ते ही ड्राइंग रूम में दीपाली का खून से सना शव फर्श पर पड़ा हुआ था और उनके बगल में एक पिस्तौल रखी हुई थी। चव्हाण एक बहादुर अधिकारी के रूप में जानी जाती थीं। अपने छोटे से कार्यकाल में उन्होंने हरिसाल के दो गांवों का कायाकल्प कर उसे पर्यटन के रूप में विकसित करने का काम किया था। उनके इस काम के लिए वन विभाग की ओर से उन्हें सम्मानित भी किया गया था।

news source zee news , dainik bhaskar

View Comments (1)