प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत बायोटेक-कोवैक्सीन लेकर 1 मार्च से दूसरे फ़ेज़ के वैक्सिनेशन की शुरुआत कर दी।

प्रधानमंत्री ने लगवाया टीका

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS Delhi) में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली। पीएम मोदी ने उन सभी लोगों से टीका लगवाने की अपील की, जो इसके योग्य हैं। पीएम मोदी ने ऐसे वक्‍त में वैक्‍सीन लगवाई है, जब देश के कुछ राज्यों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। वहीं वैक्‍सीन को लेकर लोगों के मन में अब भी काफी हिचक है, खासकर कोवैक्‍सीन को लेकर। पीएम के वैक्सीन लगवाने के बाद विपक्षी दलों के नेताओं ने मोदी की तारीफ की। वहीं, कई लोगों ने इसको लेकर कई सवाल भी उठाए। पीएम मोदी के वैक्सीन लगवाने के बाद सोशल मीडिया पर भी पीएम मोदी ट्रेंड करने लगे।

 

कांग्रेस ने वैक्सीन पर उठाए सवाल

इतना ही नहीं, भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन को लेकर भी विवाद हुआ था। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक की वैक्सीन की खुराक लेकर ही विपक्ष को जवाब दिया है। बता दें कि कांग्रेस की ओर से कई बार बयान में कहा गया था कि देश में वैक्सीन के प्रति विश्वास जगाने के लिए सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी को वैक्सीन लगवानी चाहिए।

 

अखिलेश ने वैक्सीन को बताया भाजपा का टीका

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि दुनिया के कई राष्ट्राध्यक्ष वैक्सीन लगवा रहे हैं, क्या प्रधानमंत्री मोदी कोरोना का टीका लेंगे? वहीं अखिलेश यादव ने यह तक कह दिया था कि उन्हें भारतीय जनता पार्टी की वैक्सीन पर विश्वास नहीं, जब उनकी सरकार आएगी तो वो सभी को मुफ्त में वैक्सीन लगवाएंगे।

 

आपको बता दें कि 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है. आज से 60 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. देश के सरकार और प्राइवेट सेंटर्स पर वैक्सीन मिल रही है. सरकारी सेंटर पर मुफ्त और प्राइवेट सेंटर पर 250 रुपये में वैक्सीन लगेगी