प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, गृहमंत्री, रक्षामंत्री सभी आरएसएस (RSS) के कार्यकर्ता हैं – ये है RSS की ताकत

RSS LEADERS IN BJP

टुकड़े टुकड़े गैंग को क्या बुरा लगता है आरएसएस 

क्या आपको ये पता है की भारत के सभी बड़े पदों पर आरएसएस के कार्यकर्ता आसीन हैं सबसे बड़ा पद जो भारत का सर्वोच्च नागरिक होता है राष्ट्रपति उनका नाम है रामनाथ कोबिन्द वो आरएसएसएस के ही कार्यकर्ता रहे हैं उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी , गृहमंत्री अमितशाह , रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह , उपराष्ट्र पति वेंकैया नायडू जी तथा महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडन वीस जी ये सभी आरएसएस के कार्यकर्ता रहे हैं 

अटल बिहारी बाजपेई संघ के पहले कार्यकर्ता थे जो प्रधानमंत्री बने और पहले गेर कोंग्रेसी पीएम जिनहोने 5 साल तक सरकर चलायी उसके बाद नाम आता है पीएम मोदी का जो वर्तमान मे भारत के पीएम है , पीएम मोदी तीन बार सीएम और दो बार पीएम बन चुके हैं इस बात से आप अंदाज लगा सकते हैं की संघ आरएसएस हमारे देश के लिए कितना जरूरी हैं 

संघ सिखाता हैं देशभक्ति

जितने भी संघ के कार्यकर्ता हैं उनकी छबि एक हिंदुवादी और देशभक्त नेता की हैं और ये सभी नेता अपनी ज़िम्मेदारी अच्छे तरीके से निभा रहे हैं और इंका ये व्यक्तित्व आरएसएस के ही कारण है क्यूकी संघ मे देशभक्ति और राष्ट्र के प्रति प्रेम करना  ही सिखाया जाता है , यही कारण है की पाकिस्तान और चीन समेत भारत के अंदर के गद्दार भी संघ से बहुत नफरत करते हैं

काँग्रेस संघ से नफरत क्यूँ करती है 

काँग्रेस पार्टी संघ से नफरत इसीलिए करती है क्यूंकी काँग्रेस की विचार धारा मुस्लिम औए सेकुलर प्रकार की है और जब भी देश की बात आती है तो काँग्रेस पार्टी कभी देश के साथ खड़ी नहीं होती है वहीं बीजेपी हमेशा देश के साथ ल्हाड़ी रहती है क्यूंकी बीजेपी की विचारधारा राष्ट्रवादी और हिंदुवादी है , काँग्रेस के समय मे संघ पर प्रतिबंध लगाया गया था एक तो आपातकाल के समय और दूसरा जब बाबरी मस्जिद को तोड़ा गया तो संघ पर अंकुश लगाया गया

 

संघ की स्थाप्न कब हुई 

27 सितंबर 1925 को एक ऐसे हिंदुवादी संगठन की स्थापना हुई जिसके प्रत्येक कार्यकर्ता मे भारत देश की रक्षा के लिए कुछ भी कर गुजरने की सोच कूट कूट कर भरी हुई है उस हिंदुवादी राष्ट्रवादी संगठन का नाम है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ( आरएसएस ) आरएसएस का नाम लेते ही सबसे ज्यादा दिक्कत भारत विरोधी ताकतों को होती हैं जिनमे सबसे पहला नाम पाक चीन और वो लोग जो भारत के अंदर रहकर भारत का ही अहित सोचते हैं

 

आरएसएस ने भारत को एक से एक ऐसे नेता दिये हैं जिनकी वजह से दुनिया मे भारत का नाम ऊंचा हुआ इस समय भारत के बड़े बड़े पदों पर आरएसएसएस के कार्यकर्ता ही हैं इसीलिए सारी देशद्रोही ताक़तें एक हो चुकी हैं आरएसएस के कार्यकर्ता रहे और बाद मे प्रसिद्ध नेता बने ऐसे कुछ नाम हैं पढ़िये – रामनाथ कोविन्द, अटल बिहारी बाजपेई, एकनाथ मुंडे, नरेंद्र मोदी, नितिन गडकरी, अमितशाह , देवेंद्र फडनवीष, राजनाथ सिंह , मनोहर पर्रीकर, मुरलीमनोहर जोशी , वेंकैया नायडू, विजय रूपाणि , राम माधव ये सभी आरएसएस के कार्यकर्ता रहे हैं