सुशांत की मेनेजर दिशा सालियान का हुआ था बलात्कार उसके शव पर कपड़े नहीं थे – Republic Bharat

Disha salian postmortem report

सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर दिशा सालियान की मौत 8 जून को हुई थी और मुंबई पुलिस ने बिना किसी जांच के इसको भी आत्महत्या बताकर केस को बंद करके ठंडे बस्ते में डाल दिया था लेकिन रिपब्लिक भारत की एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ कि दिशा के शव पर कपड़े ही नहीं थे यानी जब दिशा की बॉडी मिली तो वो नग्न अवस्था में थी लेकिन मुंबई पुलिस ने इसके बारे मे कोई जांच नहीं की कितनी बेशर्म पुलिस है

 

रिपब्लिक भारत न्यूज चैनल पर एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है, रिपोर्ट में ये बताया गया है कि दिशा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये बात सामने आयी है कि जब दिशा की मौत हुई तो पुलिस को उसका शव बिना कपड़ों के मिला था पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लिखा था – disha salian hindu girl nude body 

 

दिशा का रेप हुआ था

अगर किसी लड़की की बॉडी ऐसी हालत में पाई जाती है तो इसका साफ मतलब है कि उसका रेप किया गया है और यही दिशा के साथ हुआ होगा , उस रात दिशा के घर पार्टी हुई थी और उसके बाद दिशा की अचानक मौत हो गई और मुंबई पुलिस ने ये मान भी लिया कि दिशा ने खुदकुशी कि है आखिर मुंबई पुलिस को इतनी जल्दी पता कैसे चल जाता है इस बात की जांच जरूर होनी चाहिए ।

 

सुशांत के घर पहुंची सीबीआई घर की छत से खुलेगा राज- CBI ने पता लगा लिया है सुशांत का कातिल कौन है

 

यह भी पता चला है कि दिशा ने सुशांत को जाने से भी रोका था शायद उसको किसी बात को डर था जिससे वो सुशांत को पास ही रखना चाहती थी , लेकिन सुशांत को ऐसा क्या पता था । सबसे पहले इस बात की जांच होनी चाहिए की इस पार्टी में कौन कौन था और वो कब तक दिशा के साथ रहे थे , पार्टी में जो लोग शामिल हुए थे उन्हीं में से कुछ लोग थे जो दिशा के साथ मारपीट करके उसके साथ बलातकार किए और बाद में उसकी बॉडी को फेंक दिया

मुंबई पुलिस ने केस को ख़ुदकुशी बताया

दरअसल दिशा की मौत सुशांत से कुछ दिन पहले ही 8 जून को हुई थी अब लोगों का ये कहना है कि दिशा ने आत्महत्या नहीं की है दिशा को भी मारा गया है , महाराष्ट्र में बीजेपी के एक नेता ने तो ये भी कहा है कि दिशा का रेप किया गया था और फिर उसकी हत्या की गई थी लेकिन मुंबई पुलिस ने ये मामला दबा दिया और उसको आत्महत्या बता दिया ।

 

सुशांत को बेहद क्रूरता से मारा गया था, घुटना और पैर की उँगलियाँ टूटी थी गले पर गहरे चोट के निशान थे

 

कातिलों का बचाव करने के लिए मुंबई पुलिस तैयार रहती है जिसने तुरंत इस केस को खुदकुशी बता दिया और लगभग बंद भी कर दिया लेकिन जब सुशांत केस ने तूल पकड़ा तो अर्णब गोस्वामी ने दिशा केस को भी खोल लिया इसीलिए तो परमवीर सिंह और सचिन वजे ने अरनब सर को परेशान किया था ।

 

आज वही सचिन वाजे अपनी नौकरी खो चुका है उस पर आतंकवादी गतिविधि में केस चल रहा है और परमवीर सिंह खुद महाराष्ट्र की सरकार से परेशान है , आखिर इन सबका किसी बड़े नेता से लिंक तो है जिसके इशारे पर ये सब हो रहा था अब लोगों की निगाहें सीबीआई को तरफ है जिससे सुशांत के कातिलों को सजा मिले और वही लोग दिशा के केस में भी शामिल हो सकते है , सही वक्त का इंतजार करो भगवान के घर देर है अंधेर नहीं ।

 

 

 

Leave a Comment

%d bloggers like this: