पकड़े गए आतंकियों के निशाने पर 6 राज्यों के 15 शहर थे, नवरात्रि और रामलीला के दौरान हमलों की प्लानिंग थी

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार (सितंबर 14, 2021) को पाकिस्तान के आंतकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला है कि पाकिस्तान संचालित यह मॉड्यूल देश के कई हिस्सों में आगामी दिनों में त्योहार के दौरान आतंकी घटना को अंजाम देने के फिराक में था। यह मॉड्यूल दो तरह से काम कर रहा था। कुछ लोगों को जिम्मेदारी दी गई थी कि वे उन स्थानों की रेकी करें, जहां पर त्योहार खासकर रामलीला के दौरान बहुत भीड़ होती है।

दूसरे मॉड्यूल को हथियार और विस्फोटक का इंतजाम करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इनमें 2 आतंकी ऐसे भी थे जिन्हें पाकिस्तान में ही ट्रेनिंग दी गई थी। इन 6 की पहचान महाराष्ट्र के जान मोहम्मद शेख, दिल्ली के ओसामा समी, राय बरेली के ओसामा मूलचंद, प्रयागराज के जीशान कमर, लखनऊ के मो आमिर जावेद और अबू बकर के तौर पर हुई है।

 

सरकार ने अंडे बेचने के लिए दी मुर्गियाँ, लोग खा गए: Pak की इकोनॉमी सुधारने का सपना टूटा, इमरान की योजना धड़ाम

 

इनमें जीशान और ओसामा वह हैं जिन्हें पाकिस्तान में प्रशिक्षित किया गया। जीशान को प्रयागराज से पकड़ा गया। छानबीन में सामने आया कि वो एमबीए कर चुका है और दुबई में अकॉउंटेंट की जॉब करता था। कोरोना के कारण लॉकडाउन में वह घर लौटा और खजूर का बिजनेस शुरू कर दिया।

इनमें जन मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया लंबे समय से मुंबई पुलिस की नजर में था। पेशे से ड्राइवर शेख को 2001 में एक केस में गिरफ्तार भी किया गया था। ऐसे ही लखनऊ से पकड़ा गया मोहम्मद आमिर जावेद, जीशान का रिश्तेदार था और पेशे से एक मजहबी उलेमा था।

 

 

 

गिरफ्तार आतंकियों के कब्जे से दो किलो आरडीएक्स, दो हथगोले, दो इटेलियन पिस्टल व भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए हैं। तबाही का ये सारा सामान प्रयागराज से बरामद किया गया है। यहां से गिरफ्तार आतंकी जीशान व विस्फोटक को दिल्ली लाया जा रहा है। इतनी मात्रा में विस्फोटक मिलने से सुरक्षा एंजेसियों के कान खड़े हो गए हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया है कि आरडीएक्स व हथगोले पाकिस्तान से भारत आए हैं। अभी तो विस्फोटक व हथियार एकत्रित किए जा रहे थे। पाकिस्तान से अभी और विस्फोटक व हथियार आने थे। विस्फोटक व हथियारों को लाने-ले जाने का काम चल रहा था। साथ में जिन जगहों पर बम धमाके करने थे उन जगहों की रेकी की जा रही थी।

 

 

Leave a Comment

%d bloggers like this: