मैं सुशांत सिंह राजपूत , मुझे न्याय कब मिलेगा ?

सुशांत सिंह राजपूत अंकिता लोखंडे

 

मैं सुशांत सिंह राजपूत मैंने आत्महत्या नहीं की मुझे मारा गया था  मैं जानना चाहता हूं कि आखिर कूपर अस्पताल को मेरी बॉडी पर चोट के निशान क्यों नहीं नजर आए? इस अस्पताल को भला ऐसी क्या जल्दबाजी थी जो मेरी इस रहस्यमयी मौत के कुछ ही घंटों बाद ही पोस्टमार्टम में आत्महत्या की बात कही जाने लगी? मेरी मौत से जुड़ी सभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई सारी बातें छिपाई जाने की बात सामने आई. उन्हें मेरे गले के निशान से ये समझ नहीं आया कि ये मार्क इतने नीचे क्यों है? बाये हाथ की उंगली के निशान, जबकि मैं राइटी था.

 

सुशांत को न्याय कब मिलेगा

ज़रा एक बात इत्मिनान से सोचिएगा कि कोई इंसान जब आत्महत्या करने के लिए फांसी लगाता है तो गले में फंदा लगाने के लिए स्टूल या कुर्सी का इस्तेमाल करता है या फिर वो खड़े-खड़े पैर उठाकर लटककर सुसाइड करता है? लेकिन, पुलिस को इतनी जल्दबाजी है कि इस पहलू पर थोड़ा भी गौर नहीं किया जा रहा है. पुलिस की तहकीकात में मेरी मौत से जुड़े कई अहम सबूतों और आधारों को नजरअंदाज किया जाता रहा और मैं सबकुछ देखता रहा.. क्या करूं? मैं कुछ कर भी तो नहीं सकता, मुझे न जाने क्यों और किसने मार दिया? मैं सचमुच बहुत खुश था, मैं मरना नहीं चाहता था.

 

High Time Add 302 In SSR Case सुशांत को न्याय कब मिलेगा

मैं इस दुनिया का सारा तमाशा सिर्फ देख रहा हूं

लोगों को इस बात की जल्दबाजी हो रही है कि मेरी मौत को सुसाइड करार दे दिया जाए. मेरी मौत को सुसाइड साबित करने की जल्दबाजी सिर्फ अस्पताल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पुलिस की तहकीकात तक सीमित नहीं है. बल्कि सियासत में भी कुछ दिग्गजों ने मेरी मौत को आत्महत्या बताने की जल्दबाजी दिखाने लगी. मैं कुछ कर तो नहीं सकता, लेकिन मैं सारा तमाशा सिर्फ देख रहा हूं. हाल ही में शिवसेना के मुखपत्र “सामना” ने जांच पर सवाल उठाते हुए मुझे मारने वालों को बचाने की कोशिश की और जल्द आत्महत्या घोषित करने की सलाह दी थी.

 

DISHA SSR KILLERS ARE SAME – CCTV footages of both Disha & Sushant’s buildings were destroyed.

 

इतना ही नहीं एक नेता ने तो मेरी मौत की मार्केटिंग होने की भी बात कही थी. शायद वो नहीं चाहते कि मेरी मौत की गुत्थी सुलझे, तभी तो उन्होंने मेरे बारे में बेहद ही शर्मनाक बातें लिख दी. मुझे ऐसे विचारों के देखकर काफी तकलीफ हुई, क्योंकि मैंने सचमुच सुसाइड नहीं किया. नेताजी ने तो मेरे बारे में साफ-साफ ये लिख दिया कि “सुशांत के कम से कम 10 अभिनेत्रियों के साथ संबधों का खुलासा हुआ. कई लड़कियों से उसका ब्रेक अप भी हुआ था. जिसके बाद नाकामी से निराश होकर वो सुसाइड कर लेता है.”

 

सुशांत सिंह राजपूत को न्याय कब मिलेगा ये बात सीबीआई सबको क्यूँ नहीं बता रही आखिर किस बात के लिए इतनी देर हो रही है

 

 

EXPLAIN DELAY IN SSR CASE