Aryan Khan Bail : नहीं मिली जमानत कल फिर होगी सुनवाई

Aryan Khan Bail: कोर्ट के कामकाज का वक्त खत्म होने की वजह से आज सुनवाई पूरी नहीं हो सकी. अब कल दोपहर में आर्यन खान मामले पर कोर्ट में फिर से सुनवाई शुरू होगी.

Aryan Khan Bail शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान ( Aryan Khan ) की जमानत अर्जी पर बाकी सुनवाई अब 27 अक्टूबर को होगी। बॉम्बे हाई कोर्ट ने आगे की सुनवाई के लिए कल 2:30 बजे के बाद का समय दिया है।

कोर्ट ने उनसे पूछा कि आपको कितना वक्त लगेगा। अमित देसाई ने जवाब दिया 45 मिनट वहीं एनसीबी की तरफ से अनिल सिंह ने 45 मिनट का वक्त मांगा। इस पर कोर्ट ने आगे की सुनवाई कल तक के लिए टाल दी।

 

आज कोर्ट में शाहरुख खान के बेटे आर्यन की ओर से पूर्व अटॉर्वी जनरल मुकुल रोहतगी ने पैरवी की. उन्होंने कोर्ट में कहा कि, ”मैं हर बात से इनकार करता हूं. मैं किसी अधिकारी या किसी पर आरोप नहीं लगा रहा हूं.”

मुकुल रोहतगी ने सुनवाई में क्या दलीलें रखीं?

मुकुल रोहतगी: अरबाज के जूतों में जो मिला है, उस पर मेरा कोई वश नहीं है.

मुकुल रोहतगी: सचेत कब्जे का तो सवाल ही नहीं है. अरबाज मेरा नौकर नहीं है, वह मेरे वश में नहीं है।

मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट के रागिनी द्विवेदी बनाम कर्नाटक राज्य के फैसले का हवाला दिया.

मुकुल रोहतगी: उन्होंने जुआ खेलने की बात कही। आपको को रम्मी याद है? सुप्रीन कोर्ट ने कहा है कि ये कौशल का खेल है.

रोहतगी: दिन के अंत में दूसरा पक्ष उन चैट पर निर्भर करेगा, जो मेरे पास नहीं है, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि वे असंबद्ध घटनाएं हैं.

मुकुल रोहतगी ने कुछ निर्णयों का हवाला देते हुए कहा: मेरे पास इन सभी मामलों की तुलना में बेहतर मामला है, क्योंकि मुझसे कोई वसूली नहीं हुई है

मुकुल रोहतगी: उस पर (आर्यन) एनडीपीएस की 8 (सी), 20 बी, 27 और धारा 35 के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसके लिए अधिकतम सजा 1 साल है.

मुकुल रोहतगी: इस रिमांड में ये मोबाइल फोन की जब्ती नहीं है. मोबाइल जब्ती पंचनामे में भी नहीं है.

कोर्ट फिर पूछता है कि वाट्सएप चैट का आधार क्या है?

रोहतगी: वाट्सएप चैट का क्रूज मामले से कोई लेना-देना नहीं है. ये सभी पहले के लोगों से बातचीत कर रहे हैं.

मुकुल रोहतगी: मैं वहां गया था, मेरे पास कुछ नहीं था, लेकिन मुझे गिरफ्तार कर लिया गया.

Aryan Khan Bail news

मुकुल रोहतगी ने कहा कि आर्यन खान अरबाज के साथ वहां गए थे. बस इतना ही. ‘वे कुछ लड़के हैं.. कानून में प्रावधान है कि छोटी मात्रा के लिए अधिकतम सजा एक वर्ष है और पुनर्वास केंद्र में जाने के बाद अभियोजन से छूट भी मिलती है’.

 

 

नवाब मलिक ने CM ठाकरे से की मुलाकात

इस बीच एनसीपी नेता व महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवा मलिक ने सीएम उद्धव ठाकरे से मिलने पहुंचे हैं. नवाब मलिक ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री पाटिल से भी मुलाकात की. बता दें, एनसीबी ऑफिसर समीर वानखेड़े पर मलिक लगातार सवाल उठा रहे हैं. महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात के बाद कहा, समीर वानखेड़े पर लगे आरोपों की जांच के लिए SIT बनाई जाए. हॉलीवुड के बाद बॉलीवुड सबसे बड़ी इंडस्ट्री है लेकिन बालीवुड की बदनामी से बड़ा नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा मुख्यमंत्री ने भी चिंता व्यक्त की है. मुख्यमंत्री इस बारे में प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखेंगे.