Sameer Wankhede Case: वानखेड़े के पिता ने नवाब मलिक पर ठोका मानहानि का दावा, 1.25 करोड़ रुपए मुआवजे की मांग

महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drug Case) को लेकर लगातार एनसीबी, समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede Case) और उनके परिवार को निशाने पर लिए हुए हैं. इसी बीच खबर आ रही है कि समीर वानखेड़े के पिता ध्यानदेव वानखेड़े (Dhyandev Wankhede) ने नवाब मलिक के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का दावा ठोंक दिया है. ज्ञानदेव वानखेड़े ने मलिक से 1.25 करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की है. कल यानी सोमवार को इस केस पर सुनवाई होगी. ध्यानदेव से पहले बीजेपी नेता मोहित कंबोज ने भी नवाब मलिक पर 100 करोड़ की मानहानि मुकदमा दर्ज कराया है.

 

समीर के पिता ने लगाए क्या आरोप?

मानहानि से जुड़े आरोप में कहा गया है कि नवाब मलिक ने पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर ज्ञानदेव वानखेड़े, समीर वानखेड़े और उनके परिवार के सदस्यों के नाम, चरित्र, प्रतिष्ठा और सामाजिक छवि को लगातार नुकसान पहुंचाया है. ध्यानदेव की मांग है कि मलिक, उनकी पार्टी के नेताओं और अन्य सभी को उनके और उनके परिवार के खिलाफ मीडिया में कुछ भी आपत्तिजनक, मानहानिकारक सामग्री लिखने, बोलने या प्रकाशित करने पर तुरंत रोक लगाई जाए.

इस अपील में कहा गया है कि हाईकोर्ट यह घोषित करे कि मलिक के बयान, आरोप चाहे लिखित हो या मौखिक या उनके द्वारा या उनके परिवार के द्वारा सोशल मीडिया पर दिए गए हैं, वे प्रकृति में अत्याचारी और मानहानिकारक हैं. इतना ही नहीं ध्यानदेव ने इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया समेत अन्य जगहों पर मौजूद इंटरव्यू और बयानों को हटाने की भी मांग भी की है.

 

दामाद को गिरफ्तार करने की वजह से निशाना साध रहे मलिक 

दामाद को गिरफ्तार करने की वजह से निशाना साध रहे मलिक’ ध्यानदेव ने अपनी शिकायत में कहा कि वानखेड़े पर नवाब मलिक के आरोप उनके दामाद की ड्रग्स केस में गिरफ्तारी के बाद शुरू हुए. समीर खान को सितंबर में जमानत मिली. इसके बाद से मलिक हर रोज सोशल मीडिया या प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मुद्दे को लेकर वानखेड़े को घेर रहे हैं. ध्यानदेव ने नवाब मलिक पर 1.25 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा ठोका है. इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी.

 

Leave a Comment

%d bloggers like this: