Baba Balak Nath Wikipedia – महंत बालक नाथ बन सकते हैं राजस्थान के CM, जानिए उनका जीवन परिचय

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Baba Balak Nath Wikipedia : राजस्थान में चुनाव सम्पन्न हो चुके हैं । BJP ने पूरा बहुमत हासिल किया है । लेकिन अभी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर चर्चा हो रही हैं । इस बीच सीएम की रेस में वसुंधरा राजे के साथ-साथ दीया कुमारी का नाम भी चर्चा में है । लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाला नाम महंत बालक नाथ ( Mahant BalakNath ) का है. उनकी तुलना यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से की जा रही है, इसलिए कई लोग उन्हें ‘राजस्थान योगी’ भी कह रहे हैं। योगी जी की तरह बालकनाथ भी जोशीले भाषण देते हैं । आइये बाबा बालकनाथ का जीवन परिचय जानते हैं ।

Baba Balak Nath Wikipedia in Hindi 

बाबा बालकनाथ की चेतावनी ।। कान खोलकर सुनले वो लोग ।। राशन कार्ड बंगाल व कर्नाटक का बना ले - Baba Balak Nath Wikipedia - महंत बालक नाथ बन सकते हैं राजस्थान के CM, जानिए उनका जीवन परिचय

जन्म16 अप्रैल 1984 ( 39 वर्ष )
पूरा नाममहंत बालकनाथ योगी
पिता का नामश्री सुभाष यादव
माता का नामश्रीमती उर्मिला देवी
जातिअहीर, यादव,
धर्महिंदू
चुनाव-क्षेत्रअलवर
विधानसभा सीटतिजारा
गुरु का नाममहंत चांदनाथ

 

वर्तमान में महंत बालकनाथ अलवर से लोकसभा सांसद हैं। उनका जन्म बहरोड़ तहसील के कोहराना गांव में एक हिंदू (अहीर, यादव,) परिवार में हुआ था, बालक नाथ की जड़ें अलवर में गहरी हैं। एक किसान परिवार से आने के कारण, उन्होंने साढ़े छह साल की उम्र में तपस्या में अपना पहला कदम रखा, जिससे उन्हें घर छोड़ने और आश्रम में सांत्वना तलाशने के लिए प्रेरित होना पड़ा।

बाबा खेता नाथ ने कम उम्र में उनका नाम गुरुमुख रखा। वह 1985-1991 तक (6 वर्ष की आयु तक) मत्स्येंद्र महाराज के आश्रम में रहे, जिसके बाद वह महंत चांदनाथ के साथ हनुमानगढ़ जिले के नाथावली तेरी गांव में एक मठ में चले गए।

 

राजस्थान के गुंडों को बालकनाथ की चेतावनी

महंत चांदनाथ 2004 में विधायक और 2014 में सांसद चुने गए।

बाबा बालकनाथ के गुरु महंत चांदनाथ ने 2004 में राजस्थान की बहरोड़ सीट से भाजपा के टिकट पर उपचुनाव लड़ा था।  जिसमें चांदनाथ ने पार्टी के बागी जसवंत सिंह यादव को 13,000 वोटों से हराया था। 2014 में बीजेपी ने उन्हें अलवर से लोकसभा का टिकट दिया.

उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जितेंद्र सिंह के खिलाफ जीत हासिल की। महंत चांदनाथ का 2017 में निधन हो गया। उनके शिष्य और आश्रम प्रमुख महंत बालकनाथ ने अलवर से लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। एक नए प्रयोग के तहत बीजेपी ने राजस्थान में विधानसभा चुनाव में कई सांसदों को मैदान में उतारा, जिसमें अलवर जिले की तिजारा सीट से महंत बालकनाथ को मैदान में उतारा गया, जहां वह जीतने में कामयाब रहे.

बालकनाथ और डीएसपी का विवाद क्या है

Baba Balak Nath Wikipedia : बाबा बालकनाथ के पुलिस थाने में घुसकर डीएसपी को धमकी देने पर विवाद भी हुआ और चर्चा भी हुई । बाबा ने डीएसपी से कहा- मेरा नाम याद रखना,तीन लोग मेरी लिस्ट में हो। यहां का विधायक ,पुराना एसएचओ और मेरी लिस्ट में अब आप भी हो गए। सांसद ने डीएसपी आनंद राव को कहा- 8 महीने की सरकार है, याद रखूंगा।  यह पूरा विवाद बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गैंगवार के एक मामले में हिरासत में लेने पर हुआ। पूरा विवाद यहाँ से पढ़ें 

Baba Balak Nath Wikipedia ( महंत बालकनाथ – विकिपीडिया )

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now